1k+ Sad Bewafa Shayari in Hindi With Images | बेवफा शायरी इन हिंदी

Sad Bewafa shayari in hindi with images to download

Sad Bewafa Shayari in Hindi With Images

Sad Bewafa Shayari in Hindi : दोस्तों आज की इस पोस्ट में हम आपके लिए bewafa Shayari in hindi की बहुत बड़ी collection लाये है। इसमें 1000+ Sad Bewafa Shayari with photo or images available है।

इसमें Bewafa Shayari 2 Line, Bewafa Shayari Photos or images special है। हमें उम्मीद है की आपको ये बेवफा शायरी collection बेहद पसंद आएगी।

शायरी अपने दिल के गहरायों की feelings को कविता के रूप में लिखने और बोलने की कला है। आपने अगर प्यार में धोखा खाया है या किसी ने आपसे bewafai की है तो Bewafa Shayari को पढ़ना और share करना आपके दिल को सुकून देगा और आप अच्छा feel करने लगोगे।

इस bewafa shayari collection से आपको जो पसंद आए उस शायरी को आप Facebook, WhatsApp Status में use कर सकते है।

Bewafa Shayari in Hindi with Images
Bewafa Shayari in Hindi with Images

इस दुनिया में जीने की चाहत ना होती,

अगर खुदा ने मोहब्बत बनाई ना होती,

इस तरह लोग मरने की आरज़ू ना करते,

अगर मोहब्बत में बेवफ़ाई ना होती।


Sad Bewafa shayari in hindi with images to download
Sad Bewafa shayari in hindi with images to download

आज तुम्हारी याद ने मुझे रुला दिया,

क्या करूँ तुमने जो मुझे भुला दिया,

ना करते वफ़ा ना मिलती ये सजा,

मेरी वफ़ा ने तुझे बेवफा बना दिया।


Sad Bewafa Shayari in Hindi 

इंसान के कंधों पर इंसान जा रहा था,

कफ़न में लिपटा अरमान जा रहा था,

जिसे भी मिली बेवफ़ाई मोहब्बत में,

वफ़ा की तलाश में श्मशान जा रहा था।


चाँद तारे ज़मीन पर लाने की ज़िद थी,

हमें उनको अपना बनाने की ज़िद थी,

अच्छा हुआ वो पहले ही हो गए बेवफा,

वरना उन्हे पाने को ज़माना जलाने की ज़िद थी।


बेवफा से दिल लगा लिया नादान थे हम,

गलती हमसे हुई क्योंकि इंसान थे हम,

आज जिन्हें नज़रें मिलाने में तकलीफ होती है,

कुछ समय पहले उनकी जान थे हम।


ऐ बेवफा तेरी बेवफ़ाई में दिल बेकरार ना करूँ,

अगर तू कह दे तो तेरा इंतज़ार ही ना करूँ,

तू बेवफा है तो कुछ इस कदर बेवफ़ाई कर,

कि तेरे बाद मैं किसी से प्यार ही ना करूँ।


वो करीब ही न आये तो इज़हार क्या करते,

खुद बने निशाना तो शिकार क्या करते,

मर गए पर खुली रखी आँखें,

इससे ज्यादा किसी का इंतजार क्या करते।


Bewafa  Shayari With Images

Bewafa shayari images to download
Bewafa shayari images to download

कभी जो हमसे प्यार बेशुमार करते थे,

कभी जो हम पर जान निसार करते थे,

भरी महफ़िल में हमको बेवफा कहते है,

जो खुद से ज़्यादा हम पर ऐतबार करते थे।


जिन फूलों को संवारा था

हमने अपनी मोहब्बत से,

हुए खुशबू के काबिल तो

बस गैरों के लिए महके।


हर भूल तेरी माफ़ की,

हर खता को तेरी भुला दिया,

गम है कि, मेरे प्यार का..

तूने बेवफा बनके सिला दिया।


उसके आँचल का आशियाना न मिला,

उसकी ज़ुल्फ़ों की छाँव का ठिकाना न मिला,

कह दिया उसने मुझको ही बेवफा,

मुझे छोड़ने के लिए उसे, और कोई बहाना न मिला।


वो कह कर गई थी कि लौटकर आऊँगी,

मैं इंतजार ना करता तो क्या करता,

वो झूठ भी बोल रही थी बड़े सलीके से,

मैं एतबार ना करता तो क्या करता।


Hindi Bewafa Shayari Sad Images

Hindi Bewafa Shayari Sad Images to download
Hindi Bewafa Shayari Sad Images to download

उसके चेहरे पर इस क़दर नूर था,

कि उसकी याद में रोना भी मंज़ूर था,

बेवफा भी नहीं कह सकते उसको ज़ालिम,

प्यार तो हमने किया है वो तो बेक़सूर था।


बेवफ़ा तो वो खुद थी…

पर इल्ज़ाम किसी और को देती है,

पहले नाम था मेरा उसके होठों पर,

अब वो नाम किसी और का लेती है,

कभी लेती थी वादा मुझसे साथ ना छोड़ने का,

अब यही वादा किसी और से लेती है।


तेरी चौखट से सिर उठाऊं तो बेवफा कहना,

तेरे सिवा किसी और को चाहूँ तो बेवफा कहना,

मेरी वफाओं पे शक है तो खंजर उठा लेना,

मैं शौक से मर ना जाऊं तो बेवफा कहना।


छोड़ गए हमको वो अकेले ही राहों में,

चल दिए रहने वो औरों की पनाहों में,

शायद मेरी चाहत उन्हें रास नहीं आई,

तभी तो सिमट गए वो गैर की बाहों में।


बरसों गुजर गए हमने रो कर नहीं देखा,

आँखों में नींद थी मगर सो कर नहीं देखा,

वो क्या जाने दर्द-ए-मोहब्बत क्या है,

जिसने कभी किसी का होकर नहीं देखा।


प्यार करने का हुनर हमें नहीं आता,

इसलिए प्यार की बाज़ी हम हार गए,

हमारी ज़िन्दगी से उन्हें बहुत प्यार था,

शायद इसलिए हमे ज़िंदा ही मार गए।


Sad Bewafa Shayari in hindi

मजबूरी में जब कोई जुदा होता है,

जरूरी नहीं कि वो बेवफा होता है,

देकर वो आपकी आँखों में आँसू,

अकेले में आपसे ज्यादा रोता है।


मैंने प्यार किया बड़े होश के साथ,

मैंने प्यार किया बड़े जोश के साथ,

पर हम अब प्यार करेंगे बड़ी सोच के साथ,

क्योंकि कल उसे देखा मैंने किसी और के साथ।


वो मोहब्बत भी तेरी थी, वो नफ़रत भी तेरी थी,

वो अपनाने और ठुकराने की अदा भी तेरी थी,

मैं अपनी वफ़ा का इंसाफ़ किस से माँगता?

वो शहर भी तेरा था, वो अदालत भी तेरी थी।


Sad Bewafa Shayari in hindi hd images to download
Sad Bewafa Shayari in hindi hd images to download

बिछड़ के तुमसे जिंदा हूँ, मेरी तकदीर तो देखो,

कभी आकर मेरे हालात की तस्वीर तो देखो,

देकर प्यार की दौलत खरीदे खून के आंसू,

मिली जो इश्क में हमको जागीर तो देखो।


हम सिमटते गए उनमें और वो हमें भुलाते गए,

हम मरते गए उनकी बेरुखी से, और वो हमें आजमाते गए,

सोचा की मेरी बेपनाह मोहब्बत देखकर सीख लेगी वफाएँ करना,

पर हम रोते गए और वो हमें खुशी खुशी रुलाते गए।


नफरत को मोहब्बत की आँखों में देखा,

बेरुखी को उनकी अदाओं में देखा,

आँखें नम हुई और मैं रो पड़ा,

जब अपने को गैरों की बाहों में देखा।


Bewafa  Shayari With Photo

वो बेवफा हमारा इम्तेहा क्या लेगी,

मिलेगी नज़रों से नज़रें तो अपनी नज़रें ज़ुका लेगी,

उसे मेरी क़ब्र पर दीया मत जलाने देना,

वो नादान है यारो… अपना हाथ जला लेगी।


तुम क्या जानो क्या है तन्हाई,

टूटे हर पत्ते से पूछो क्या है जुदाई,

यूँ बेवफ़ाई का इल्ज़ाम ना दे ए-ज़ालिम,

इस वक़्त से पूछ किस वक़्त तेरी याद ना आई।


नजर नजर से मिलेगी तो सर झुका लेगा,

वह बेवफा है मेरा इम्तिहान क्या लेगा,

उसे चिराग जलाने को मत कह देना,

वह नासमझ है कहीं उंगलियां जला लेगा।


Bewafa  Shayari With Photo
Bewafa  Shayari With Photo

तेरे प्यार का सिला हर हाल में देंगे,

खुदा भी मांगे ये दिल तो टाल देंगे,

अगर दिल ने कहा तुम बेवफ़ा हो,

तो इस दिल को भी सीने से निकाल देंगे।


आज तक है उसके लौट आने की उम्मीद,

आज तक ठहरी है ज़िंदगी अपनी जगह,

लाख ये चाहा कि उसे भूल जाये पर,

हौंसले अपनी जगह, बेबसी अपनी जगह।


तुम्हारी हर एक बात बेवफ़ाई की कहानी है,

लेकिन तेरी हर सांस मेरी जिंदगी की निशानी है,

तुम आज तक समझ नहीं सके मेरे प्यार को,

इसलिए मेरे आँसू भी तेरे लिए पानी है।


जल-जल के दिल मेरा जलन से जल रहा,

एक अश्क मेरे आँख में मुद्दत से पल रहा,

जिसका मैं कर रहा हूँ घुट-घुट के इंतजार,

वो बेवफा ना आई मेरा दम निकल रहा।


Bewafa  Shayari Images

रास्ते खुद ही तबाही के निकाले हमने,

कर दिया दिल किसी पत्थर के हवाले हमने,

हाँ मालूम है क्या चीज़ है मोहब्बत यारो,

अपना ही घर जला कर देखें है उजाले हमने।


आज हम उनको बेवफा बताकर आए है,

उनके खतों को पानी में बहाकर आए है,

कोई निकाल न ले उन्हें पानी से,

इस लिए पानी में भी आग लगा कर आए है।


रात की गहराई आँखों में उतर आई,

कुछ ख्वाब थे और कुछ मेरी तन्हाई,

ये जो पलकों से बह रहे है हल्के हल्के,

कुछ तो मजबूरी थी कुछ तेरी बेवफाई।


मेरी बर्बादी पर तू कोई मलाल ना करना,

भूल जाना मेरा ख्याल ना करना,

हम तेरी ख़ुशी के लिए कफ़न ओढ़ लेंगे,

पर तुम मेरी लाश से कोई सवाल मत करना।


दिल का दर्द एक राज बनकर रह गया,

मेरा भरोसा मज़ाक बनकर रह गया,

दिल के सौदागरों से दिललगी कर बैठे,

शायद इसीलिए मेरा प्यार इक अल्फ़ाज़ बनकर रह गया।


Bewafa Shayari Photos
Bewafa Shayari Photos

खुदा ने जब इश्क़ बनाया होगा,

तो खुद आज़माया होगा,

हमारी तो औकात ही क्या है,

इस इश्क़ ने खुदा को भी रुलाया होगा।


हकीकत जान लो जुदा होने से पहले,

मेरी सुन लो अपनी सुनाने से पहले,

ये सोच लेना भूलने से पहले,

बहुत रोई है ये आँखें मुस्कुराने से पहले।


चाँद का क्या कसूर अगर रात बेवफा निकली,

कुछ पल ठहरी और फिर चल निकली,

उनसे क्या कहे वो तो सच्चे थे शायद,

हमारी तकदीर ही हमसे खफा निकली।


Sad Bewafa Shayari in hindi

उड़ रहा था मेरा दिल भी परिंदों की तरह,

तीर जब लग गई तो कोई भी मरहम न हुआ,

देख लेना था मुझे भी हर सितम की अदा,

ऐ सनम तेरे जैसा मेरा कोई दुश्मन न हुआ।


छूट गया जो साथ तेरा मुझसे,

रूठ गया है अपना ही दिल मुझसे,

कितनी तकलीफ कितना दर्द है तेरे जाने का,

एक बार मुड़ के देख क्या हल हो गया है तेरे दीवाने का।


इश्क़ सभी को जीना सिखा देता है,

वफ़ा के नाम पर मरना सीखा देता है,

इश्क़ नहीं किया तो करके देखो,

ज़ालिम हर दर्द सहना सीखा देता है।


दुनियाँ को इसका चेहरा दिखाना पड़ा मुझे,

पर्दा जो दरमियां था हटाना पड़ा मुझे,

रुसवाईयों के खौफ से महफिल में आज,

फिर इस बेवफा से हाथ मिलाना पड़ा मुझे।


प्यार कहाँ अपनी किस्मत में,

हमने तो धोखों का दीदार किया है,

लुटा हमें उसी ने उस जगह जब जहां,

हमने हंसकर प्यार से प्यार की बात किया है।


हमने भी किसी से प्यार किया था,

हसीनो ने हसीन बनकर गुनाह किया,

औरों को तो क्या हमको भी तबाह किया,

पेश किया जब ग़ज़लों में हमने उनकी बेवफ़ाई को,

औरों ने तो क्या उन्होने भी वाह-वाह किया।


मोहबत को जो निभाते है उनको मेरा सलाम है,

और जो बीच रास्ते में छोड़ जाते है उनको,

हमारा ये पेगाम है..

वादा-ए-वफ़ा करो तो फिर खुद को फ़ना करो,

वरना खुदा के लिए किसी की ज़िंदगी ना तबाह करो।


Very Sad Bewafa shayari in hindi

Bewafa Shayari In Hindi For Love
Bewafa Shayari In Hindi For Love

टूटे हुए प्याले में जाम नहीं आता,

इश्क़ में मरीज को आराम नहीं आता,

ये बेवफा दिल तोड़ने से पहले ये सोच तो लिया होता,

की टुटा हुआ दिल किसी के काम नहीं आता।


मेरी वफा के बदले बेवफाई न दिया कर,

मेरी उम्मीद ठुकरा के इन्कार न किया कर,

तेरी मोहब्बत में हम सब कुछ गँवा बैठे,

जान भी चली जायेगी इम्तिहान न लिया कर।


दर्द ही सही मेरे इश्क का इनाम तो आया,

खाली ही सही हाथों में जाम तो आया,

मैं हूँ बेवफ़ा सबको बताया उसने,

यूँ ही सही, उसके लबों पे मेरा नाम तो आया।


कभी ग़म तो कभी तन्हाई मार गयी,

कभी याद आकर उनकी जुदाई मार गयी,

बहुत टूट कर चाहा जिसको हमने,

आखिर में उनकी ही बेवफाई मार गयी।


पत्थर की ये दुनिया जज़्बात नहीं समझती,

दिल में है जो, वो बात नहीं समझती,

तन्हा तो चाँद भी है सितारों के बीच,

मगर चाँद का दर्द बेवफ़ा रात नहीं समझती।


दिल के दरिया में धड़कन की कश्ती है,

ख़्वाबों की दुनिया में यादों की बस्ती है,

मोहब्बत के बाजार में चाहत का सौदा है,

वफ़ा की कीमत से तो बेवफाई सस्ती है।


ये बेवफा वफा की कीमत क्या जाने,

है बेवफा गम-ऐ-मोहब्बत क्या जाने,

जिन्हें मिलता है हर मोड़ पर नया हमसफर,

वो भला प्यार की कीमत क्या जाने।


Bewafa Shayari In Hindi 160

एक दिन हम आपसे इतने दूर हो जायेंगे,

के आसमान के इन तारो में कही खो जायेंगे,

आज मेरी परवाह नहीं आपको,

पर देखना एक दिन हद से ज्यादा.. हम आपको याद आएंगे।


आग दिल में लगी जब वो खफ़ा हुए,

महसूस हुआ तब, जब वो जुदा हुए,

करके वफ़ा कुछ दे ना सके वो,

पर बहुत कुछ दे गए जब वो बेवफ़ा हुए।


ना पूछ मेरे सब्र की इंतेहा कहाँ तक है,

तू सितम कर ले तेरी हसरत जहाँ तक है,

वफ़ा की उम्मीद जिन्हें होगी उन्हें होगी,

हमें तो देखना है तू बेवफ़ा कहाँ तक है।


अच्छा होता जो उनसे प्यार न हुआ होता,

चैन से रहते हम जो दीदार न हुआ होता,

पहुँच चुके होते हम अपनी मंज़िल पर,

अगर एक बेवफा पर ऐतबार न हुआ होता।


वफा की तलाश करते रहे हम,

बेवफाई में अकेले मरते रहे हम,

नहीं मिला दिल से चाहने वाला,

खुद से ही बेबजह डरते रहे हम,

लुटाने को हम सब कुछ लुटा देते,

मोहब्बत में उन पर मिटते रहे हम,

खुद दुखी हो कर खुश उन को रखा,

तन्हाईयों में साँसें भरते रहे हम,

वो बेवफाई हम से करते ही रहे,

दिल से उन पर मरते रहे हम।


वो तो अपने दर्द रो-रो के सुनते रहे,

हमारी तन्हाइयों से आँख चुराते रहे,

और हमें बेवफा का नाम मिला,

क्योंकि, हम हर दर्द मुस्कुरा कर छुपाते रहे।


चलो मान लेता हुँ के…

मुझे मोहब्बत करनी नहीं आती,

लेकिन आप तो ये बताओ…

आप को दिल तोडना किसने सीखाया।


बेवफाई का मौसम भी

अब यहाँ आने लगा है,

वो फिर से किसी और को

देख कर मुस्कुराने लगा है।


हमें न मोहब्बत मिली न प्यार मिला,

हमको जो भी मिला बेवफा यार मिला,

अपनी तो बन गई तमाशा ज़िन्दगी,

हर कोई मकसद का तलबगार मिला।


bewafa shayari collection

मेरी वफ़ा की कदर ना की,

अपनी पसंद पे तो ऐतबार किया होता,

सुना है, वो उसकी भी ना हुई,

मुझे छोड दिया था, उसे तो अपना लिया होता।


गा तो सकता में भी गीत मगर मेरी आवाज़ ही बेवफ़ा है,

बजा तो सकता में भी साज मगर मेरी साज ही बेवफ़ा है,

मत कर गुमान ए शाहजहां अपनी ताज पर,

बना तो सकता में भी ताज मगर मेरी मुमताज ही बेवफ़ा है।


वफ़ा के नाम से मेरे सनम अनजान थे,

किसी की बेवफाई से शायद परेशान थे,

हमने वफ़ा देनी चाही तो पता चला,

हम खुद बेवफा के नाम से बदनाम थे।


हम तो जी रहे थे उनका नाम लेकर,

वो गुज़रते थे हमारा सलाम लेकर,

कल वो कह गये भुला दो हुमको,

हमने पुछा कैसे..

वो चले गये हाथों मे जाम देकर!


हाथों में फूल लेकर इंतज़ार किया था,

भूल उनकी नहीं भूल तो हमारी थी,

क्योंकी उन्होने नहीं, हमने उनसे प्यार किया था।


मोहब्बत से रिहा होना ज़रूरी हो गया है,

मेरा तुझसे जुदा होना ज़रूरी हो गया है,

वफ़ा के तजुर्बे करते हुए तो उम्र गुजरी,

ज़रा सा बेवफा होना ज़रूरी हो गया है।


टूटा हो दिल तो दुःख होता है,

करके मोहब्बत किसी से ये दिल रोता है,

दर्द का एहसास तो तब होता है,

जब किसी से मोहब्बत हो और उसके दिल में कोई और होता है।


Bewafa Shayari In Hindi For Girlfriend

लगे है इल्ज़ाम दिल पे जो मुझको रुलाते है,

किसी की बेरुखी और किसी और को सताते है,

दिल तोड़ के मेरा वो बड़ी आसानी से कह गए अलविदा,

लेकिन हालात मुझे बेवफ़ा ठहराते है।


किस-किस को तू खुदा बनाएगी,

किस-किस की तू हसरतें मिटाएगी,

कितने ही परदे डाल ले गुनाहों पे,

बेवफा तू बेवफा ही नजर आएगी।


हाथ पकड़ कर रोक लेते अगर,

तुझ पर ज़रा भी ज़ोर होता मेरा,

ना रोते हम यूँ तेरे लिये,

अगर हमारी ज़िन्दगी में तेरे सिवा कोई ओर होता।


इल्जाम न दे मुझको तूने ही सिखाई बेवफाई है,

देकर के धोखा मुझे मुझको दी रुसवाई है,

मोहब्बत में दिया जो तूने वही अब तू पाएगी,

पछताना छोड़ दे तू भी औरों से धोखा खायेगी।


झाँक कर देखा होता एक बार तो डोली के अंदर,

के हो गया है अब मेरी भी ज़िंदगी का पूरा सफर,

तेरे साथ साथ अब मेरी भी मंज़िल ख़त्म हो गयी,

बताने ना दिया तूने और कह दिया तू बेवफा हो गयी।


मेरी चाहत ने उसे खुशी दे दी,

बदले में उसने मुझे सिर्फ खामोशी दे दी,

खुदा से दुआ मांगी मरने की लेकिन,

उसने भी तड़पने के लिए जिन्दगी दे दी।


नादान इनकी बातों का एतबार ना कर,

भूलकर भी इन जालिमों से प्यार ना कर,

वो क़यामत तलक तेरे पास ना आयेंगे,

इनके आने का नादान तू इन्तजार ना कर।


Bewafa Shayari In Hindi For Girlfriend

दिल से रोये मगर होंठो से मुस्कुरा बेठे,

यूँ ही हम किसी से वफ़ा निभा बेठे,

वो हमे एक लम्हा न दे पाए अपने प्यार का,

और हम उनके लिये जिंदगी लुटा बेठे।


हमारी ज़िंदगी तो कब की बिखर गयी,

हसरते सारी दिल में ही मर गयी,

चल पड़ी वो जब से बैठ के डोली में,

हमारी तो जीने की तमन्ना ही मर गयी।


हम तो तेरे दिल की महफिल सजाने आए थे,

तेरी कसम, तुझे अपना बनाने आए थे,

किस बात की सज़ा दी तूने तुमको,

बेवफ़ा हम तो तेरे दर्द को अपनाने आए थे।


दो दिलों की धड़कनों में एक साज़ होता है,

सबको अपनी-अपनी मोहब्बत पर नाज़ होता है,

उसमें से हर एक बेवफा नहीं होता,

उसकी बेवफ़ाई के पीछे भी कोई राज होता है।


तू तो हँस हँसकर जी रही है,

जुदा होकर भी..

कैसे जी पाया होगा वो,

जिसने तेरे सिवा जिन्दगी कभी सोची ही नहीं।


हमसे पूछो क्या होता है पल पल बिताना,

बहुत मुश्किल होता है दिल को समझाना,

यार ज़िन्दगी तो बीत जायेगी,

बस मुश्किल होता है कुछ लोगो को भूल पाना।


ढूंढ़ तो लेते अपने प्यार को हम,

शहर में भीड़ इतनी भी न थी,

पर रोक दी तलाश हमने,

क्योंकि वो खोये नहीं बदल गए थे।


Bewafa Shayari In Love

जो कहते थे हमसे है तेरे सनम,

वो दगा दे गए देखते देखते।

देते मोहब्बत का इनाम क्या,

वो सजा दे गए देखते देखते।

सोचता हूँ कि वो कितने मासूम थे,

जो बेवफा हो गए देखते देखते।


न रहा कर उदास ऐ दिल,

किसी बेवफा की याद में,

वो खुश है अपनी दुनिया में

तेरा सब कुछ उजाड़ के।


एक बेवफा से प्यार का अंजाम देख लो,

मैं खुद ही शर्मशार हूँ उससे गिला नहीं,

अब कह रहे है मेरे जनाज़े पे बैठ कर,

यूँ चुप हो जैसे हमसे कोई वास्ता नहीं।


ये नजर चुराने की आदत

आज भी नही बदली उनकी,

कभी मेरे लिए जमाने से और

अब जमाने के लिए हमसे।


चलो खेलें वही बाजी

जो पुराना खेल है तेरा,

तू फिर से बेवफाई करना

मैं फिर आँसू बहाऊंगा।


आप बेवफा होंगे सोचा ही नहीं था,

आप भी कभी खफा होंगे सोचा नहीं था,

जो गीत लिखे थे कभी प्यार में तेरे,

वही गीत रुसवा होंगे सोचा ही नहीं था।


कैसी अजीब तुझसे यह जुदाई थी,

कि तुझे अलविदा भी ना कह सका,

तेरी सादगी में इतना फरेब था,

कि तुझे बेवफा भी न कह सका।


कभी उसने भी हमें चाहत का पैगाम लिखा था,

सब कुछ उसने अपना हमारे नाम लिखा था,

सुना है आज उनको हमारे जिक्र से भी नफ़रत है,

जिसने कभी अपने दिल पर हमारा नाम लिखा था।


Hindi Status Bewafa Shayari

काश उन्हें चाहने का अरमान नहीं होता,

होश में होकर भी अंजान नहीं होता,

ये प्यार ना होता, किसी पत्थर दिल से,

या फिर कोई पत्थर दिल इंसान ना होता।


बहुत महँगी हुई अब तो वफा..

लोग कहाँ मिलते है, जो सच्चा प्यार करे,

मोहब्बत तो बन गई है अब सजा,

आशिक कहाँ मिलते है, जो संग-संग इश्क का दरिया पार करे।


कोई छुपाता है, कोई बताता है,

कोई रुलाता है, तो कोई हंसाता है,

प्यार तो हर किसी को ही किसी न किसी से हो जाता है,

फर्क तो इतना है कि कोई अजमाता है और कोई निभाता है।


गुजारिश हमारी वह मान न सके,

मज़बूरी हमारी वह जान न सके,

कहते है मरने के बाद भी याद रखेंगे,

जीते जी जो हमें पहचान न सके।


उनकी मोहब्बत का अभी निशान बाकी है,

नाम लब पर है मगर जान अभी बाकी है,

क्या हुआ अगर देख कर मूंह फेर लेते है वो,

तसल्ली है कि अभी तक शक्ल कि पहचान बाकी है।


न वो आ सके न हम कभी जा सके,

न दर्द दिल का किसी को सुना सके,

बस बैठे है यादों में उनकी,

न उन्होंने याद किया और न हम उनको भुला सके।


कदम कदम पर बहारों ने साथ छोडा,

जरुरत पडने पर यारों ने साथ छोडा,

बादा किया सितारोँ ने साथ निभाने का,

सुबह होते ही सितारो ने साथ छोडा।


अनजाने में यूँ ही हम दिल गँवा बैठे,

इस प्यार में कैसे धोखा खा बैठे,

उनसे क्या गिला करें… भूल तो हमारी थी,

जो बिना दिलवालों से ही दिल लगा बैठे।


बेवफा शायरी इन हिंदी

उल्फत का अक्सर यही दस्तूर होता है,

जिसे चाहो वही अपने से दूर होता है,

दिल टूटकर बिखरता है इस कदर,

जैसे कोई कांच का खिलौना चूर-चूर होता है।


नजर-नजर से मिलेगी तो सर झुका लेगा,

वह बेवफा है मेरा इम्तिहान क्या लेगा,

उसे चिराग जलाने को मत कह देना,

नासमझ है अपनी उँगलियाँ जला लेगा।


गुज़रे दिनों की भूली हुई बात की तरह,

आँखों में जागता है कोई रात की तरह,

उससे उम्मीद थी की निभाएगा साथ वो,

वो भी बदल गया मेरे हालात की तरह।


मेरी वफा के क़ाबिल नही हो तुम,

प्यार मिले ऐसे इन्सान नही हो तुम,

दिल क्या तुम पर ऐतबार करेगा,

प्यार मे धोखा दिया ऐसे बेवफा हो तुम।


दुनियाँ को अपना चेहरा दिखाना पड़ा मुझे,

पर्दा जो दरमियां था हटाना पड़ा मुझे,

रुसवाईयों के खौफ से महफिल में आज,

फिर इस बेवफा से हाथ मिलाना पड़ा मुझे।


तेरी मोहब्बत ने दिया सुकून इतना,

कि तेरे बाद कोई अच्छा न लगे,

तुझे करनी है बेवफ़ाई तो इस अदा से कर,

कि तेरे बाद कोई भी बेवफ़ा न लगे।


अगर दुनिया में जीने की चाहत ना होती,

तो खुदा ने मोहब्बत बनाई ना होती,

इस तरह लोग मरने की आरज़ू ना करते,

अगर मोहब्बत में बेवफ़ाई ना होती।


वफा के बदले बेवफाई ना दिया कर,

मेरी उमीद ठुकरा कर इन्कार ना किया कर,

तेरी मौहब्बत में हम सब कुछ गवां बैठे,

जान चली जायेगी इम्तिहान ना लिया कर।


Bewafa Sms In Hindi For Girlfriend

आप बेवफा होंगे सोचा ही नहीं था,

आप भी कभी खफा होंगे सोचा नहीं था,

जो गीत लिखे थे कभी प्यार पर तेरे,

वही गीत रुसवा होंगे सोचा ही नहीं था।


कैसी अजीब तुझसे यह जुदाई थी,

कि तुझे अलविदा भी ना कह सका,

तेरी सादगी में इतना फरेब था,

कि तुझे बेवफा भी ना कह सका।


मेरी तलाश का है जुर्म

या मेरी वफा का क़सूर,

जो दिल के करीब आया

वही बेवफा निकला।


पहले इश्क फिर धोखा

फिर बेवफ़ाई,

बड़ी तरकीब से

एक शख्स ने तबाह किया।


अच्छा होता जो उस से प्यार न हुआ होता,

चैन से रहते हम जो दीदार न हुआ होता,

हम पहुँच चुके होते अपनी मंज़िल पर,

अगर उस बेवफा पर ऐतबार न हुआ होता।


महफ़िल ना सही तन्हाई तो मिलती है,

मिलें ना सही जुदाई तो मिलती है,

प्यार में कुछ नहीं मिलता..

वफ़ा न सही बेवफाई तो मिलती है।


अब तो गम सहने की आदत सी हो गयी है

रात को छुप–छुप रोने की आदत सी हो गयी है

तू बेवफा है खेल मेरे दिल से जी भर के

हमें तो अब चोट खाने की आदत सी हो गयी है।


आंसुओं तले मेरे सारे अरमान बह गये,

जिनसे उमीद लगाए थे वही बेवफा हो गये,

थी हमें जिन चिरागों से उजाले की चाह,

वो चिराग ना जाने किन अंधेरो में खो गये।


बेवफा शायरी इन हिंदी इमेज

यू तो कोई तन्हा नहीं होता,

चाह कर किसी से जुदा नहीं होता,

मोहब्बत को मजबूरियां ले डूबती है,

वरना ख़ुशी से कोई बे वफ़ा नहीं होता!


ज़िंदगी से बस यही एक गिला है,

ख़ुशी के बाद न जाने क्यों गम मिला है,

हमने तो की थी वफ़ा उनसे जी भर के,

पर नहीं जानते थे कि वफ़ा के बदले बेवफाई ही सिला है।


बेवफा तो वो खुद थी,

पर इल्ज़ाम किसी और को देती है,

पहले नाम था मेरा उसके होठों पर,

अब वो नाम किसी और का लेती है,

कभी लेती थी वादा मुझसे साथ ना छोड़ने का,

अब यही वादा किसी और से लेती है।


वो पानी की लहरों पे क्या लिख रहा था,

खुदा जाने वो क्या लिख रहा था,

महोब्बत में मिली थी नफरत उसे भी शायद,

इसलिए हर शख्स को शायद बेवफा लिख रहा था।


वो कह कर गई थी कि लौटकर आऊँगी,

मैं इंतजार ना करता तो क्या करता,

वो झूठ भी बोल रही थी बड़े सलीके से,

मैं एतबार ना करता तो क्या क्या करता।


आज किसी की दुआ की कमी है,

तभी तो हमारी आँखों में नमी है,

कोई तो है जो भूल गया हमें,

पर हमारे दिल में उसकी जगह वही है।


आज तक है उसके लौट आने की उम्मीद,

आज तक ठहरी है ज़िंदगी अपनी जगह,

लाख ये चाहा कि उसे भूल जाये पर,

हौंसले अपनी जगह बेबसी अपनी जगह।


आग दिल में लगी जब वो खफ़ा हुए,

महसूस हुआ तब, जब वो जुदा हुए,

करके वफ़ा कुछ दे ना सके वो,

पर बहुत कुछ दे गए जब वो बेवफ़ा हुए।


दर्द भरी बेवफा शायरी इन हिंदी

दिल टूटेगा तो फरियाद करोगे तुम भी,

हम न रहे तो हमने याद करोगे तुम भी,

आज कहते हो हमारे पास वक़्त नहीं है,

पर एक दिन मेरे लिए वक़्त बर्बाद करोगे तुम भी।


एक दिन जब हुआ प्यार का अहसास उन्हें,

वो सारा दिन आकर हमारे पास रोते रहे,

और हम भी इतने खुद गर्ज़ निकले यारों कि,

आँखे बंद कर के कफ़न में सोते रहे।


प्यार वो हम को बेपनाह कर गये,

फिर ज़िन्दगी में हम को तन्नहा कर गये,

चाहत थी उनके इश्क में फ़नाह होने की,

पर वो लौट कर आने को भी मना कर गये।


इन आंखो मे आंसू आये न होते,

अगर वो पीछे मुडकर मुस्कुराये न होते,

उनके जाने के बाद बस यही गम रहेगा,

कि काश वो हमारी ज़िन्दगी मे आये न होते।


मुस्कुराते पलकों पे सनम चले आते है,

आप क्या जानो कहाँ से हमारे गम आते है,

आज भी उस मोड़ पर खड़े है,

जहाँ किसी ने कहा था कि ठहरो हम अभी आते है।


कोई अच्छी सी सज़ा दो मुझको,

चलो ऐसा करो भूला दो मुझको,

तुमसे बिछडू तो मौत आ जाये,

दिल की गहराई से ऐसी दुआ दो मुझको।


पूछते है सब जब बेवफा था तो उसे

दिल दिया ही क्यों

*

किस किस को बतलाये

*

उस शख्स में बात ही कुछ ऐसी थी

दिल नहीं देते तो जान चली जाती”


Gam Bhari Shayari Photo

ये चिराग-ए-जान भी अजीब है,

कि जला हुआ है अभी तलक,

उसकी बेवफाई की आँधियाँ तो,

कभी की आ के गुजर गई।


हर भूल तेरी माफ़ की

तेरी हर खता को भुला दिया,

गम है कि मेरे प्यार का

तूने बेवफाई सिला दिया।


फूलों के साथ काँटे नसीब होते है,

ख़ुशी के साथ ग़म भी नसीब होता है,

यूँ तो मजबूरी ले डूबती हर आशिक को,

वरना खुशी से बेवफ़ा कौन होता है।


तुम अगर याद रखोगे तो इनायत होगी,

वरना हमको कहाँ तुम से शिकायत होगी,

ये तो वही बेवफ़ा लोगों की दुनिया है,

तुम भूल भी जाओगे तो रिवायत होगी।


जो हुकुम करता है वो इल्तज़ा भी करता है,

आसमान भी कहीं जाकर झुका करता है,

और तू बेवफा है तो ये खबर भी सुन ले,

इन्तज़ार मेरा कोई वहाँ भी करता है।


दिल दुखाने का काम छोड़ दो,

मेरे नाम कोई तो पैगाम छोड़ दो,

वफ़ा कर नहीं सकते तो ना ही सही,

लेना महफिल में मेरा नाम छोड़ दो!


हर सितम सह कर कितने ग़म छिपाये हमने,

तेरी खातिर हर दिन आँसू बहाये हमने,

तू छोड़ गया जहाँ हमें राहों में अकेला,

बस तेरे दिए ज़ख्म हर एक से छिपाए हमने।


Sad Bewafa shayari in hindi

वो हमें भूल भी जायें तो कोई गम नहीं,

जाना उनका जान जाने से भी कम नहीं,

जाने कैसे ज़ख़्म दिए है उसने इस दिल को,

कि हर कोई कहता है कि इस दर्द का कोई मरहम नहीं।


उसे उड़ने का शौक था..

और हमें उसके प्यार की कैद पसंद थी,

वो शौक पूरा करने उड़ गयी जो..

आखिरी सांस तक साथ देने को रजामंद थी।


क्या अजीब सी ज़िद है… हम दोनों की,

तेरी मर्ज़ी हमसे जुदा होने की…

और मेरी तेरे पीछे तबाह होने की।


गम इस बात का नही कि तुम बेवफा निकली,

मगर अफ़सोस ये है कि,

वो सब लोग सच निकले,

जिनसे मैं तेरे लिए लड़ा करता था।


Bewafa Shayari In Hindi For Girlfriend 2 Line

अब भी तड़प रहा है तू उसकी याद में,

उस बेवफा ने तेरे बाद कितने भुला दिए।


माना कि मोहब्बत की ये भी एक हकीकत है फिर भी,

जितना तुम बदले हो उतना भी नहीं बदला जाता।


मुझे शिकवा नहीं कुछ बेवफ़ाई का तेरी हरगिज़,

गिला तो तब हो अगर तूने किसी से निभाई हो।


न जाने क्या है..? उसकी उदास आंखों में,

वो मुँह छुपा के भी जाये तो बेवफा न लगे।


खुश हूँ कि मुझको जला के तुम हँसे तो सही,

मेरे न सही… किसी के दिल में बसे तो सही।


वो बेवफा हर बात पे देता है परिंदों की मिसाल,

साफ साफ नहीं कहता मेरा शहर छोड़ दो।


इतनी मुश्किल भी ना थी… राह मेरी मोहब्बत की,

कुछ ज़माना खिलाफ हुआ… कुछ वो बेवफा हो गए।


​​​​दोस्त बनकर भी वो नहीं साथ निभानेवाला,

वही अंदाज़ है उस ज़ालिम का ज़माने वाला।


तेरा ख्याल दिल से मिटाया नहीं अभी,

बेवफा मैंने तुझको भुलाया नहीं अभी।


Bewafa Shayari 2 Line

तेरी तो फितरत थी, सबसे मोहब्बत करने की,

हम बेवजह खुद को, खुशनसीब समझने लगे।


हमसे न करिये बातें यूँ बेरुखी से सनम,

होने लगे हो कुछ-कुछ बेवफा से तुम।


तूने ही लगा दिया इलज़ाम-ए-बेवफाई,

अदालत भी तेरी थी गवाह भी तू ही थी।


सीख कर गया है वो मोहब्बत मुझसे,

जिस से भी करेगा बेमिसाल करेगा।


पहले इश्क फिर धोखा फिर बेवफ़ाई,

बड़ी तरकीब से एक शख्स ने तबाह किया।


उस के यूँ तर्क-ए-मोहब्बत का, सबब होगा कोई,

जी नहीं ये मानता, वो बेवफ़ा पहले से था।


मुझे शिकवा नहीं कुछ बेवफ़ाई का तेरी हरगिज़,

गिला तो तब हो अगर तूने किसी से निभाई हो।


तेरी तो फितरत थी सबसे मोहब्बत करने की,

हम बेवजह खुद को खुशनसीब समझने लगे।


तेरे हुस्न पे तारीफों भरी किताब लिख देता,

काश तेरी वफ़ा तेरे हुस्न के बराबर होती।


बेवफा शायरी इन हिंदी फॉर Girlfriend

नजर उनकी जुबाँ उनकी, अजब है कि इस पर भी,

नजर कुछ और कहती है, जुबाँ कुछ और कहती है।


हम तो जल गये, उसकी मोहब्बत में मोम की तरह,

फिर भी कोई बेवफा कहे, तो उसकी वफ़ा को सलाम।


जब तक न लगे एक बेवफाई की ठोकर,

हर किसी को अपने महबूब पे नाज़ होता है।


इतनी मुश्किल भी ना थी राह मेरी मोहब्बत की,

कुछ ज़माना खिलाफ हुआ कुछ वो बेवफा हो गए।


उसने महबूब ही तो बदला है फिर ताज्जुब कैसा,

दुआ कबूल ना हो तो लोग खुदा तक बदल लेते है।


तुम बदले तो मजबूरियाँ थी,

हम बदले तो बेवफ़ा हो गए।


उसने जी भर के मुझको चाहा था,

फ़िर हुआ यूँ के उसका जी भर गया।


किसी का रूठ जाना और अचानक बेवफा होना,

मोहब्बत में यही लम्हा क़यामत की निशानी है।


उसकी बेवफाई पे भी फ़िदा होती है जान अपनी,

अगर उस में वफ़ा होती तो क्या होता खुदा जाने।


उसके चले जाने के बाद, हम महोबत नहीं करते किसी से,

छोटी सी जिन्दगी है… किस किस को अजमाते रहेंगे।


बातों में तल्खी और लहजे में बेवफाई,

लो ये मोहब्बत भी पहुँची अंजाम पर।


बेवफा प्रेमिका के लिए शायरी

चाहते है वो हर रोज नया चाहने वाला.

ऐ खुदा मुझे रोज इक नई सूरत दे दे।


वो सुना रहे थे अपनी वफाओ के किस्से,

हम पर नज़र पड़ी तो खामोश हो गए।


रहने दे ये किताब


तेरे काम की नहीं,

इसमें लिखे हुए है वफाओं के तज़करे।


काम आ सकीं न अपनी वफायें तो क्या करें,

उस बेवफा को भूल ना जाएं तो क्या करें।

 

तेरी बेवफाई ने हमारा ये हाल कर दिया है,

हम नहीं रोते लोग हमें देख कर रोते है।


जाते-जाते उसके आखिरी अल्फाज़ यही थे,

जी सको तो जी लेना मर जाओ तो बेहतर है।


बंद कर देना खुली आँखों को मेरी आके तुम,

अक्स तेरा देख कर कह दे न कोई बेवफा।


बेवफा वक़्त था? तुम थे? या मुकद्दर था मेरा?

बात इतनी ही है कि अंजाम जुदाई निकला।


अब के अब तस्लीम कर लें तू नहीं तो मैं सही,

कौन मानेगा कि हम में से बेवफा कोई नहीं।


Bewafa Shayari In Hindi For Girlfriend

मेरे फन को तराशा है सभी के नेक इरादों ने,

किसी की बेवफाई ने किसी के झूठे वादों ने।


मिल ही जाएगा कोई ना कोई टूट के चाहने वाला,

अब शहर का शहर तो बेवफा हो नहीं सकता।


मेरी मोहब्बत सच्ची है इसलिए तेरी याद आती है,

अगर तेरी बेवफाई सच्ची है तो अब याद मत आना।


समेट कर ले जाओ अपने झूठे वादों के अधूरे क़िस्से

अगली मोहब्बत में तुम्हें फिर इनकी ज़रूरत पड़ेगी।


सिर्फ एक ही बात सीखी इन हुस्न वालों से हमने​​,

​हसीन जिसकी जितनी अदा है वो उतना ही बेवफा है।


हर भूल तेरी माफ़ की तेरी हर खता को भुला दिया,

गम है कि मेरे प्यार का तूने बेवफाई सिला दिया।


उसने महबूब ही तो बदला है फिर ताज्जुब कैसा,

दुआ कबूल ना हो तो लोग खुदा तक बदल लेते है।


समेट कर ले जाओ अपने झूठे वादों के अधूरे क़िस्से

अगली मोहब्बत में तुम्हें फिर इनकी ज़रूरत पड़ेगी।


कुछ अलग ही करना है तो वफ़ा करो दोस्त,

बेवफाई तो सबने की है मज़बूरी के नाम पर।


मिल ही जाएगा कोई ना कोई टूट के चाहने वाला,

अब शहर का शहर तो बेवफा हो नहीं सकता।


Bewafa Shayari In Hindi For Love

बंद कर देना खुली आँखों को मेरी आ के तुम,

अक्स तेरा देख कर कह दे न कोई बेवफा।


मेरी वफा फरेब थी मेरी वफा पे खाक डाल ।

तुझसा ही कोई बेवफ़ा तुझको मिले खुदा करे।


हो सके तो मुड़ कर देख लेना जाते जाते,

तेरे आने के भरम में ज़िन्दगी गुज़ार लेंगे।


हम जमाने में यूँ ही बेवफ़ा मशहूर हो गये दोस्त,

हजारों चाहने वाले थे किस-किस से वफ़ा करते।


कोई नहीं याद रखता वफ़ा करने वालों को,

मेरी मानो बेवफा हो लो जमाना याद रखेगा।


खुदा ने पूछा क्या सज़ा दूँ उस बेवफ़ा को,

दिल ने कहा मोहब्बत हो जाए उसे भी।


जाते-जाते उसके आखिरी अल्फाज़ यही थे,

जी सको तो जी लेना मर जाओ तो बेहतर है।


वाकिफ तो थे तेरी बेवफ़ाई की आदत से,

चाहा इसलिए कि तेरी फितरत बदल जाये।


हमसे न करिये बातें यूँ बेरुखी से सनम,

होने लगे तो कुछ कुछ बेवफा से तुम।


उँगलियाँ आज भी इसी सोच में गुम है,

कि कैसे उसने नए हाथ को थामा होगा।


Bewafa Sms In Hindi For Girlfriend

कैसे बुरा कह दूँ तेरी बेवफाई को,

यही तो है जिसने मुझे मशहूर किया है।


अब के अब तस्लीम कर लें तू नहीं तो मैं सही,

कौन मानेगा कि हम में से बेवफा कोई नहीं।


अपनी ही एक ग़ज़ल से कुछ यूँ ख़फ़ा हूँ मैं,

ज़िक्र था जिस बेवफ़ा का, वही बेवफ़ा हूँ मैं।


मेरे फन को तराशा है सभी के नेक इरादों ने,

किसी की बेवफाई ने किसी के झूठे वादों ने।


महफ़िल में गले मिल के वो धीरे से कह गए,

ये दुनिया की रस्म है मोहब्बत न समझ लेना।


मुझे शिकवा नहीं कुछ बेवफ़ाई का तेरी हरगिज़,

गिला तो तब हो अगर तूने किसी से निभाई हो।


इस दुनिया में वफ़ा करने वालों की कमी नहीं,

बस प्यार ही उससे हो जाता है जो बेवफा हो।


इलाही क्यूँ नहीं उठती क़यामत माजरा क्या है,

हमारे सामने पहलू में वो दुश्मन के बैठे है।


रोये कुछ इस


तरह से मेरे जिस्म से लग के वो,

ऐसा लगा कि जैसे कभी बेवफा न थे वो।


औकात नहीं थी ज़माने में जो मेरी कीमत लगा सके,

कम्बख़्त इश्क में क्या गिरे, मुफ्त में नीलाम हो गये।


Bewafa Shayari In Hindi

इस दौर में की थी जिस से वफ़ा की उम्मीद,

आखिर को उसी के हाथ का पत्थर लगा मुझे।


दिल क्या मिलाओगे कि हमें हो गया यक़ीं,

तुम से तो ख़ाक में भी मिलाया न जाएगा।


उसकी ख्वाहिश है कि आँगन में उतरे सूरज,

भूल बैठा है कि खुद मोम का घर रखता है।


रहने दे ये किताब तेरे काम की नहीं,

इस में लिखे हुए है वफाओं के तज़करे।


अगले बरसों कि तरह होंगे करीने तेरे,

किसे मालुम नहीं बारह महीने तेरे।


अब देखिये तो किस की जान जाती है,

मैंने उसकी और उसने मेरी कसम खायी है।


कैसे यकीन करें हम तेरी मोहब्बत का,

जब बिकती है बेवफाई तेरे ही नाम से।


जा तुझ को तेरे हाल पे छोड़ा,

इस से बेहतर तेरी सजा भी क्या है।


Sad Bewafa shayari images

जब तक न लगे एक बेवफाई की ठोकर,

हर किसी को अपने महबूब पे नाज़ होता है।


बेवफाओं की इस दुनियां में संभलकर चलना,

यहाँ मुहब्बत से भी बर्बाद कर देते है लोग।


तेरी बेवफाई ने हमारा ये हाल कर दिया है,

हम नहीं रोते लोग हमें देख कर रोते है।


मुझे मालूम है हम उनके बिना जी नहीं सकते,

उनका भी यही हाल है मगर किसी और के लिये।


तेरा ख़याल दिल से मिटाया नहीं अभी,

बेवफा मैंने तुझको भुलाया नहीं अभी।


इजाज़त हो तो तेरे चहेरे को देख लूँ जी भर के,

मुद्दतों से इन आँखों ने कोई बेवफा नहीं देखा।


किसी का रूठ जाना और अचानक बेवफा होना,

मोहब्बत में यही लम्हा क़यामत की निशानी है।


उसकी बेवफाई पे भी फ़िदा होती है जान अपनी,

अगर उस में वफ़ा होती तो क्या होता खुदा जाने।


मोहब्बत से भरी कोई ग़ज़ल उसे पसंद नहीं,

बेवफाई के हर शेर पे वो दाद दिया करते है।


बेवफा दुनिया में कौन सारी जिंदगी साथ देगा तेरा,

लोग तो दफना कर भूल जाते है कि कब्र कौन सी थी।


जिगर हो जायेगा छलनी आँखें खूब रोयेंगीं,

बेवफा लोगों से निभा कर के कुछ नहीं मिलता।


मिला के खाक में दिल को वो इस अंदाज़ में बोले,

मिट्टी का खिलौना था, कहाँ रखने के काबिल था।


वो सुना रहे थे अपनी वफाओ के किस्से,

हम पर नज़र पड़ी तो खामोश हो गए।


चाहते है वो हर रोज़ नया चाहने वाला.

ऐ खुदा मुझे रोज़ इक नई सूरत दे दे।


Sad Bewafa Shayari in hindi

आख़िर तुम भी आइने की तरह ही निकले,

जो भी सामने आया तुम उसी के हो गए।


हम बेवफा है ऐलान किये देते है,

चल तेरे काम को आसान किये देते है।


दिल भी गुस्ताख हो चला था बहुत,

शुक्र है की यार ही बेवफा निकला।


न कोई मज़बूरी है न तो लाचारी है,

बेवफाई उसकी पैदायशी बीमारी है।


इंतजार हम सारी ऊम्र कर लेंगे

बस खूदा करे तू बेवफा न निकले।


हमारी तरफ अब वो कम देखते है,

ये वो नजरें नहीं जिनको हम देखते है।


कुछ तो बेवफाई है मुझ में भी,

जो अब तक जिंदा हूँ तेरे बग़ैर।


तुझे है मशक-ए-सितम का मलाल वैसे ही,

हमारी जान थी, जान पर वबाल वैसे ही।


चला था ज़िकर ज़माने की बेवफाई का,

सो आ गया है तुम्हारा ख्याल वैसे ही।


हम आ गए है तह-ए-दाम तो नसीब अपना,

वरना उस ने तो फेंका था जाल वैसे ही।


Hindi Bewafa Shayari 2 Line

मैं रोकना ही नहीं चाहता था वार उस का,

गिरी नहीं मेरे हाथों से ढाल वैसे ही।


मुझे भी शौक़ न था दास्ताँ सुनाने का,

मोहसिन उस ने भी पूछा था हाल वैसे ही।


मेरी आँखों से बहने वाला ये आवारा सा आसूँ

पूछ रहा है पलकों से तेरी बेवफाई की वजह।


मेरी मोहब्बत सच्ची है इसलिए तेरी याद आती है,

अगर तेरी बेवफाई सच्ची है तो अब याद मत आना।


जाते जाते उसने पलटकर सिर्फ इतना कहा मुझसे,

मेरी बेवफाई से ही मर जाओगे या मार के जाऊं।


खो गयी मेरी मोहब्बत, बेवफ़ाई के दलदल में,

मगर इन आँखो को अब भी वफ़ा की तलाश है।


इतना ही गुरुर है तो मुकाबला इश्क से कर ऐ बेवफा,

हुस्न पर क्या इतराना जो बस मेहमान है कुछ दिन का।


बेवफा कहने से पहले मेरी रग रग का खून निचोड़ लेना,

कतरे कतरे से वफ़ा ना मिले तो बेशक मुझे छोड़ देना।


सुनो एक बार और मोहब्बत करनी है तुमसे,

लेकिन इस बार बेवफाई हम करेंगे।


काम आ सकीं ना अपनी वफ़ाएं तो क्या करें,

उस बेवफा को भूल ना जाएं तो क्या करें।


तुम बेवफा नहीं ये तो धड़कनें भी कहती है,

अपनी मज़बूरिओं का एक पैगाम तो भेज देते।


दिमाग पर जोर डाल के गिनते हो गलतियाँ मेरी,

कभी दिल पे हाथ रख के पूछो क़सूर किसका था।


Bewafa Shayari Photos

बढ़ा के प्यास मेरी उस ने हाथ छोड़ दिया,

वो कर रहा था मुरव्वत भी दिल्लगी की तरह।


जिस कदर तुमने भुला रखा है कभी सोचना,

हम सब छोड़कर निकले थे एक तेरी मोहब्बत के लिये!


उन्हो ने अपने लबो से लगाया और छोड़ दिया,

वे बोले इतना जहर काफी है तेरी कतरा कतरा मौत के लिए!


तुमने ही बदले दिए सिलसिले अपनी वफाओं के,

वरना हम तो आज भी तुम से अज़ीज़ कोई नही।


अपने तजुर्बे की आज़माइश की ज़िद थी,

वर्ना हमको था मालूम कि तुम बेवफा हो जाओगे।


नज़ारे तो बदलेंगे ही ये तो कुदरत है,

अफ़सोस तो हमें तेरे बदलने का हुआ है।


ये उनकी मोहब्बत का नया दौर है,

जहाँ कल मैं था आज कोई और है।


ट्रैफिक सिग्नल पर आज उसकी याद आ गई,

रंग उसने भी अपना कुछ इसी तरह बदला था।